कोरोना के दौर में सुरक्षित पर्यटन कैसे करें (7 Tips to travel safe during tourism in CORONA / COVID-19)

 

कोरोना के दौर में सुरक्षित पर्यटन कैसे करें  

(7 Tips to travel safe during tourism in CORONA / COVID-19)

लोकेश ब्रह्मभट्ट, शिमला 

क्या आप पिछले एक वर्ष से घर में बंद रह कर ऊब चुके हैं, और अब टूरिज्म के लिए जाने की सोच रहे हैं ? क्या आपको भी टूरिज्म के दौरान कोविड-19 से कैसे बचें, ये चिंता सता रही है? तो आइये जानते हैं की आपको क्या-क्या सावधानियां रखनी चाहिए जिससे की आप और आपका परिवार इस महामारी से सुरक्षित रह सके |

1.      पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग कम से कम करें: जहाँ तक संभव हो अपने निजी वाहन से यात्रा करें | यदि आपके पास निजी कार नहीं है तो आप सेल्फ ड्राइविंग कार् किराए पर लेकर यात्रा कर सकते हैं | पर ध्यान रहे की उपयोग से पहले आप कार को पूरी तरह से सेनीटाईज कर लें | यदि सेल्फ ड्राइविंग कार का विकल्प भी ना हो तो आप टैक्सी भी ले सकते है परन्तु उस स्थिति में ड्राईवर पूर्णतया स्वस्थ हो व उसकी कोई संपर्क हिस्ट्री ना हो | यदि मजबूरन पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग करना भी पड़े तो अपने साथ सेनीटाईजर रखें व् यथा संभव बस अथवा ट्रेन के हैंडल्स, आर्मरेस्ट्स, खिड़की आदि को अनावश्यक ना छुएं | स्लीपर बस या ट्रेन में अपने साथ चादर/बेडशीट लेकर जाएँ व् उपयोग के बाद उन्हें किसी पॉलिथीन बैग में सील करके रख दें | घर पहुँचने के बाद इनको गर्म पानी में धो सकते हैं |

2.      सोच समझ कर करें पर्यटन स्थल का चयन: पर्यटन स्थल का चयन करने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना अतिआवश्यक है | जैसे यथासंभव ऐसे टूरिस्ट स्पॉट्स का चयन करें जहां भीड़-भाड़ में जाने की आवश्यकता ना हो | यदि साईट सीइंग के लिए जाएँ तब भी अधिक भीड़ व संकरे रास्तों वाले स्पॉट्स पर ना जाए | प्राक्रतिक सौंदर्य वाले टूरिस्ट स्पॉट्स ऐसे समय में सर्वोत्तम है जहां आप खुले पहाड़ों, वादियों, रेगिस्तान  आदि में पर्यटन का आनंद उठा सकते है | बड़े व अधिक जनसँख्या वाले शहरों से ऐसे समय में दूर रहना ही समझदारी है |

3.      होटल/रिसॉर्ट्स में भी रहें सतर्क व सजग: पर्यटन के लिए जाना है तो होटल अथवा रिसोर्ट के बारे में तो आपने सोच ही लिया होगा | कोरोनाकाल में होटल के चयन से लेकर वहां के प्रवास में आपको कई बातों का ध्यान रखना होगा| सर्वप्रथम होटल अथवा रिसोर्ट खुला खुला हो एवं अधिक भीड़-भाड वाले इलाकों में स्थित ना हो | प्रयास करें की होटल के रिव्युज  पता कर लें की वहां कोविड-19 से सम्बंधित सभी सावधानियां रखी जाती है या नहीं | कमरे, रेस्टोरेंट, लॉबी आदि को प्रतिदिन सेनीटाईज किया जाता हो व मास्क के बगैर एंट्री की इजाजत ना हो | अपने कमरे में चेक-इन करने के बाद एक बार अपने सामने ही डोर हैंडल्स, फर्नीचर, बाथरूम सेनिटरी आदि को सेनीटाईज करवा लें | यथासंभव अपने रूम में ही खाना खाएं व रेस्टोरेंट, जिम, स्विमिंग पूल आदि कॉमन यूज की सुविधाओं का उपयोग करने से बचें |

4.      अपने साथ खाने की पर्याप्त वस्तुएं साथ लेकर जाएँ : घर से निकलने से पहले अपने साथ कुछ खाद्य सामग्री पैक कर लें ताकि आप या बच्चों को रास्ते में बार-बार चिप्स, कुरकुरे, बिस्कीट्स आदि खरीद कर संक्रमण का जोखिम न उठाना पड़े | टूरिस्ट स्पॉट पर भी कोशिश करें की भीड़ वाले रेस्टोरेंट्स जहाँ जगह कम हो व संक्रमण का खतरा अधिक हो वहाँ खाना ना खाएं | यथासंभव जहाँ आपने स्टे किया है वहीँ खाना खाएं जिससे आपका एक्सपोज़र न्यूनतम रहे|

5.      टूरिस्ट स्पॉट्स पर शौपिंग करने से बचें: याद रखें की आप पर्यटन के उद्देश्य से आयें है शौपिंग के लिए नहीं | टूरिस्ट स्पॉट्स पर स्थित दुकानों से शौपिंग करना संक्रमण का एक बड़ा कारण बन सकता है | आवश्यक वस्तुओं के अलावा ऐसी जगहों पर शौपिंग से बचना ही बेहतर है |

6.      कॉमन यूज की वस्तुओं को छूने से बचें: टूरिस्ट स्पॉट्स पर लिफ्ट, बेंच, रेल्लिंग, हैंडल्स आदि वस्तुओं को छूने से बचना चाहिए एवं यदि छूना आवश्यक हो तो छूने का बाद अपने हाथों को सेनीटाईज करना ना भूलें | आपके साथ यदि छोटे बच्चे हैं तो उनको विशेष ध्यान रखें व उन्हें भी ऐसी वस्तुओं को ना छूने दें |

7.      मास्क व सेनीटाईजर के बिना बाहर ना निकलें: जब भी बाहर निकलें तो सभी सदस्य मास्क लगा कर व् साथ में पॉकेट में छोटी सेनीटाईजर की बोतल जरूर साथ रखें | जब भी किसी बाहरी वस्तु को छुएँ तो हाथ सेनीटाईज करना ना भूलें | कोशिश करें की टूरिस्ट स्पॉट्स पर घूमते समय दुसरे पर्यटकों से पर्याप्त दूरी बनाये रखें |

यदि आप उपरोक्त सभी सावधानियों को अपनायेंगे तो कोरोना के संक्रमण से स्वयं एवं अपने परिवार को सुरक्षित रखने में सफल रहेंगे एवं साथ ही पर्यटन का भी पूरा लुत्फ उठा पाएंगे |


No comments:

Post a Comment

जुदा होकर भी उसके होने का भरम रहा

एक अरसे तक वो मेरा मोहतरम रहा, जुदा होकर भी उसके होने का भरम रहा मैं उस दिन पहली बार माँ से झूठ बोला कईं महीनों तक मेरे दिल में ये गम रहा। म...